एम वेंकैया नायडू: नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति

5 अगस्त 2017 को पूर्व केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू भारत के उपराष्ट्रपति के रूप में चुना गया। श्री एम वेंकैया नायडू वर्तमान उपराष्ट्रपति श्री हामिद अंसारी का पदभार ग्रहण करेंगे। जिन्होंने लगातार दो बार 5-5 वर्ष की अवधि के लिए उपराष्ट्रपति पद संभाला था। इस जीत से, भाजपा ने भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधान मंत्री के शीर्ष तीन संवैधानिक पदों को अधिवासित कर लिया है।

उपराष्ट्रपति चुनाव के महत्वपूर्ण तथ्य:

वर्ष 2017 के उपराष्ट्रपति चुनाव में कुल 785 सांसदों ने मतदान किया।
उपराष्ट्रपति चुनाव हेतु कुल 381 वोट जीत हेतु निर्धारित किए गए।
भारत में उपराष्ट्रपति चुनाव में संसद के दोनों सदनों के सदस्य अनुपातिक प्रतिनिधित्व की व्यवस्था के अनुसार उपराष्ट्रपति चुनाव में अपने मतपत्र का उपयोग करते हैं।
राज्यसभा के नामांकित सदस्य भी उपराष्ट्रपति चुनाव में मतपत्र का उपयोग करते हैं।

एम वेंकैया नायडू के बारे में

वेंकैया नायडू का जन्म 1 जुलाई 1949 को आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में पैदा हुआ था। विशाखापत्तनम में आंध्र विश्वविद्यालय के कॉलेज ऑफ लॉ में अंतरराष्ट्रीय कानून में विशेषज्ञता के साथ उन्होंने कानून की डिग्री हासिल की है।
उन्होंने पहली बार 1972 के ‘जय आंध्र आंदोलन’ के साथ मुख्यधारा की राजनीति में प्रवेश किया और 1980 में भाजपा में शामिल हो गए।
वह वर्ष 2002 में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में निर्वाचित किए गए।
वह अटल बिहारी वाजपेई (1999-2004) और नरेंद्र मोदी (2014 से वर्तमान) सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में सेवाएं दे चुके हैं।