भारत के वीर: सेंट्रल रिजर्व पुलिस बल

9 अप्रैल 2017 को सेंट्रल रिजर्व पुलिस बल ने वीरता दिवस के उपलक्ष्य पर एक नई वेब पोर्टल और मोबाइल एप्लीकेशन का शुभारंभ किया. “भारत के वीर” नामक वेब पोर्टल और मोबाइल एप्लीकेशन का मुख्य उद्देश्य अपने कर्तव्यों की कतार को पूर्ण करते हुए अपने प्राण त्यागने वाले बहादुर सैनिकों के परिवार को योगदान राशि प्रदान करना है. यह वेबसाइट तकनीकी रूप से राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा समर्थित है और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा संचालित है.

वेब पोर्टल की सेवाएं

यह वेब पोर्टल किसी भी नागरिक को अपनी पसंद के बहादुर सैनिक के परिजन को आर्थिक सहायता प्रदान करने की सुविधा देता है. दान की गई राशि उन केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों केंद्रीय पैरा सैन्य बल के सैनिकों के परिजनों के खाते में जमा की जाएगी. यदि जमा की गई राशि 15 लाख रुपए से अधिक की होती है, तो दाताओं को यह राशि किसी अन्य बहादुर सैनिक के खाते में साझा करने की सुविधा प्रदान की जाएगी.

निधि प्रबंधन

“भारत के वीर” कॉर्पस को प्रतिष्ठित व्यक्तियों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों द्वारा बनाई गई एक समिति द्वारा प्रबंधित किया जाएगा, जो आवश्यकता के आधार पर बहादुर परिवार के लिए समान रूप से निधि का भुगतान करने का निर्णय करेगा।

वीरता दिवस के मुख्य तथ्य

सीआरपीएफ के जवानों के छोटे से दल द्वारा प्रदर्शित अद्वितीय बहादुरी के कृत्य को याद करने के उपलक्ष्य पर प्रतिवर्ष वीरता दिवस का आयोजन किया जाता है. 9 अप्रैल 2017 को गुजरात के कच्छ के रन स्थित एक छोटी सी पोस्ट (सरदार पोस्ट) के चंद सैनिकों ने पाकिस्तानी सेना के एक इंफेंट्री ब्रिगेड के खिलाफ वर्ष 1965 के युद्ध में अद्वितीय साहस का परिचय दिया था. सरदार पोस्ट के वीरता की गाथा सीआरपीएफ के अधिकारियों और पुरुषों को प्रेरणा का एक समृद्ध स्रोत है और 9 अप्रैल को “बहादुर दिवस” के रूप में मनाया जाता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.