जापान ने आधिकारिक तौर पर बिटकॉइन को मुद्रा के रूप में मान्यता दी

जापान ने आधिकारिक तौर पर 1 अप्रैल, 2017 से बिटकॉइन और डिजिटल मुद्राओं को अन्य फाइनट्स मुद्राओं की तर्ज पर कानूनी धन के रूप में मान्यता दे दी है। बिटकॉइन मुद्रा जापान में बैंकिंग अधिनियम में संशोधन के उपरांत नए कानून के क्रियान्वयन के दौरान एक वैध मुद्रा के रूप में पेश हुई है. यह नियमक जांच के माध्यम से कानूनी बैंकिंग प्रणाली में डिजिटल मुद्रा के एकीकरण में मदद करेगी.

नए कानून के तहत सभी बैंकों और वित्तीय संस्थाओं में बिटकॉइन को डिजिटल मुद्रा के रूप में एक्सचेंज प्लेटफार्म पर माऩ्य माना जाएगा.

बिटकॉइन को प्रचलन में लेने वाले उपभोक्ताओं को वार्षिक लेखा परीक्षा के साथ सख्त एंटी मनी लॉन्ड्रिंग आवश्यक्ताओं को पूर्ण करना होगा.

बैंकिंग और वित्तीय संस्थाओं को उपभोक्ता संरक्षण सुनिश्चित करने के लिए साइबर सुरक्षा आवश्यकताओं को पूर्ण करना होगा.

बैंकिंग अधिनियम डिजिटल मुद्रा को “मूल्य की संपत्ति” के रूप में भी प्रदर्शित करता है, जिसका अर्थ है कि डिजिटल मुद्रा को बाजार में भुगतान के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है और इसे खरीदा और बेचा भी जा सकता है.

बिटकॉइन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य:

बिटकॉइन एक डिजिटल मुद्रा का रूप है. जिसे इलेक्ट्रॉनिक्स रूप से निर्मित किया जाता है, जिसे केंद्रीय बैंक या सरकार द्वारा ही विनियमित किया जा सकता है.

बिटकॉइन को डॉलर या रुपए की तरह मुद्रित नहीं किया जाता है यह सॉफ्टवेयर के उपयोग द्वारा तेजी से व्यवसाय में उपयोग में ली जाती है.

इसे “क्रिप्टोकुरेंसी” भी कहा जाता है, क्योंकि यह विकेन्द्रीकृत है और दोहरे खर्च को रोकने के लिए क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करता है, क्रिप्टोग्राफी डिजिटल मुद्राओं के लिए एक महत्वपूर्ण चुनौती है।

बिटकॉइन की विनिमय दर एक स्टॉक मार्केट की तरह उतार-चढ़ाव यानी मांग पर आधारित होती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.