बैंक नोट्स (देनदारियों समाप्ति) अधिनियम, 2017

1 मार्च 2017 को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने बैंक नोट्स (देनदारियों समाप्ति) अधिनियम, 2017 को अपनी सहमति दे दी। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की सहमति के उपरांत इस कानून के तहत एक निश्चित संख्या से अधिक 500 रु और 1000 रु के पुराने नोट रखना एक अपराध की श्रेणी में आएगा।

बैंक नोट्स (देनदारियों समाप्ति) अधिनियम, 2017 के महत्वपूर्ण तथ्य:

नए कानून के तहत यदि किसी व्यक्ति के पास 10 से अधिक और अध्ययन, अनुसंधान या मुद्राशास्त्र उद्देश्यों के लिए 25 से अधिक 500 रु और 1000 रु के पुराने नोट पाए जाने पर, संबंधित व्यक्ति से ₹10000 या प्राप्त नकदी की 5 गुना धनराशि जुर्माने के तहत वसूली जाएगी।

नए कानून के तहत यदि भारतीय नागरिक विमुद्रीकरण के समय (9 नवंबर- 31 दिसंबर, 2016) अपनी झूठी उपस्थिति विदेश में घोषित करते हुए पकड़ा गया तो न्यूनतम ₹50000 का जुर्माना लगाए जाने का प्रावधान है।

नया कानून विमुद्रीकरण प्रक्रिया के उपरांत भारतीय रिजर्व बैंक की पुराने 500 और 1000 रुपए की अदायगी संबंधी घोषणा को भी प्रभावी रूप से समाप्त करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.