कलेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना

कालेश्वरम लिफ्ट सिंचाई परियोजना के तहत गोदावरी नदी के पानी को Medigadda/मेडीगद्दा बैराज से लिफ्ट कराकर तेलंगाना के करीमनगर, निजामाबाद, वारंगल और मेडक जिलों को जलापूर्ति की जाएगी।

यह लिफ्ट सिंचाई परियोजना मुख्यतः प्रणहिता चेवेला लिफ्ट सिंचाई परियोजना का द्वितीय चरण है, जिसके तहत येलम्पल्ली जलाशय के 148 एम एमएसएल जल स्तर को लिफ्ट करा कर जल आपूर्ति की जाएगी।

इस परियोजना के तहत देश में पहली बार 139 मेगावाट क्षमता वाले पंपों का उपयोग किया जाएगा।

यह योजना एशिया में जल संचरण हेतु सबसे लंबी सुरंग (81 किलोमीटर) का निर्माण करेगी।

इस योजना के तहत गोदावरी नदी से 180 टीएमसी जल को कुल 7,38,851 हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई के लिए काम में लिया जाएगा।

इस प्रस्तावित केलेश्वरम परियोजना में येलमपल्ली और मेडिगदा के बीच तीन बैराजों का निर्माण करने की परिकल्पना की गई है।
यह बैराज है:
1. मेदिगादा के पास गोदावरी पर मेदिगादा बैराज (कलाेश्वरम)।
2. गोदावरी पर अन्नाराम बैराज, अन्नाराम के निकट मनरे नदी और गोदावरी नदी के संगम पर।
3. सुंदरला और कैसपेटा के निकट गोदावरी नदी पर सुंदरला बैराज।

इस परियोजना के सफलतम क्रियान्वयन हेतु तेलंगाना और महाराष्ट्र के 15 जिलों में सार्वजनिक जनसुनवाई का आयोजन किया गया, जिसके उपरांत पर्यावरण मंजूरी प्रदान की गई।