गूगल प्रोजेक्ट Loon: मौसम भविष्यवाणी

गूगल का प्रोजेक्ट Loon एक विशाल गुब्बारे के माध्यम से घूमते हुए दुनिया भर के लोगों को, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करने के लिए प्रारंभ किया गया था। Google ने अपने प्रोजेक्ट Loon की सेवा में विस्तार करते हुए इसे मौसम की भविष्यवाणी जैसी सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए तैयार किया जा रहा है।

यह प्रोजेक्ट मशीन लर्निंग एल्गोरिथ्म/ Machine-Learning Algorithms के माध्यम से एक छोटे से क्षेत्रफल पर ध्यान आकर्षित कर संभव समय की एक लंबी अवधि के लिए मौसम की भविष्यवाणी करने की तैयारी कर रहा है। गूगल अपने इस प्रोजेक्ट के माध्यम से अब ना सिर्फ लोगों को इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करेगा, बल्कि विशेष क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित कर मौसम की भविष्यवाणी में भी सहयोग करेगा।

प्रोजेक्ट Loon के महत्वपूर्ण तथ्य:

जून 2013 में प्रारंभ प्रोजेक्ट Loon गूगल कंपनी की X research lab का हिस्सा है।

यह परियोजना दुनिया के दूरस्थ भागों में इंटरनेट सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रारंभ की गई है।

इस परियोजना के तहत जमीन में फाइबर ऑप्टिकल केबल का उपयोग ना करते हुए समताप मंडल में गुब्बारों के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट सेवा उपलब्ध कराई जाती है।

इस परियोजना के तहत एक विशालकाय (15 मीटर चौड़ा और 12 मीटर लंबा) हिलियम भरे गुब्बारे को पृथ्वी से 18 किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ान भरने के लिए तैयार किया गया।

यह विशालकाय गुब्बारा इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए सिग्नल लेने और छोड़ने का कार्य करते हैं।

इस गुब्बारे पर लगे सोलर पैनल बैटरियों को रात में इंटरनेट सेवा उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक विद्युत ऊर्जा प्रदान करते हैं।

गुब्बारे की गति और दिशा को नियंत्रित करने हेतु गुब्बारे की हवा के दबाव को बदला जाता है।

उपयोगकर्ता को गुब्बारे से रेडियो संकेतो को प्राप्त करने और भेजने के लिए एक विशेष एंटीना की जरूरत होती है।

Read More