इसरो का नया विश्व रिकॉर्ड: एकल मिशन में 104 उपग्रह प्रक्षेपित

15 फरवरी 2017 को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने एक सिंगल मिशन के तहत 104 उपग्रह अंतरिक्ष में भेज कर एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया। इस उपग्रह को पोलर सैटलाइट लॉन्च वेहिकल पीएसएलवी-सी37 द्वारा सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा, आंध्र प्रदेश से अपने 40वें मिशन के तहत प्रक्षेपित किया गया।

मिशन के महत्वपूर्ण तथ्य:

इस उपग्रह द्वारा प्रक्षेपित 104 उपग्रहों में से तीन भारतीय थे और शेष 101 अंतरराष्ट्रीय उपग्रह थे।

इस मिशन के तहत भारत के 3 प्रमुख उपग्रह कार्टोसैट -2 और आईएनएस -1 ए और आईएनएस -1 बी का प्रक्षेपण किया गया।

इस मिशन के तहत प्रक्षेपित 101 अंतर्राष्ट्रीय उपग्रह: 96 अमेरिकी, इजराइल, कजाकिस्तान, नीदरलैंड, स्विट्जरलैंड और संयुक्त अरब अमीरात के एक-एक उपग्रह शामिल है।

इस मिशन की लॉन्च प्रक्रिया के तहत पीएसएलवी ने सर्वप्रथम कार्टोसेट -2 का और इसके उपरांत शेष 103 अंतरिक्ष उपग्रहों को ध्रुवीय सूर्य समकालीन कक्षा में पृथ्वी से 520 किलोमीटर की दूरी पर स्थापित किया।

कार्टोसेट -2 उपग्रह:

यह उपग्रह मिशन का प्राथमिक उपग्रह था, जो अपने पूर्ववर्ती कार्टोसेट -2 श्रंखला के 4 उपग्रहों के समान था। इस 5 वर्षीय मिशन के उपग्रह का कुल वजन 714 किलो है। यह पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है, जो सुदूर संवेदन सेवाएं प्रदान करता है। इस उपग्रह द्वारा भेजे गए मानचित्र तटीय भूमि के उपयोग, सड़क नेटवर्क की निगरानी और दूसरी सरकारी परियोजनाओं हेतु भारतीय नक्शे के निर्माण में सहायक होगा।

विश्व रिकॉर्ड:

वर्ष 2014 में रूसी अंतरिक्ष एजेंसी ने एकल प्रक्षेपण में 37 उपग्रहों को प्रक्षेपित कर एक विश्व रिकॉर्ड बनाया था। इस मिशन हेतु रूसी अंतरिक्ष एजेंसी ने एक संशोधित अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल को प्रक्षेपण हेतु काम में लिया था।

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने जून 2016 में अपना पूर्व राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ते हुए एकल मिशन के तहत 20 अंतरिक्ष उपग्रहों का सफलतम प्रक्षेपण किया जिनमें से 13 उपग्रह अमेरिका के थे।

Read More