एकीकृत केस मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम: सुप्रीम कोर्ट

10 मई 2017 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सर्वोच्च न्यायालय सुप्रीम कोर्ट के एकीकृत केस मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम का अनावरण किया। यह इंफॉर्मेशन सिस्टम सर्वोच्च न्यायालय के डिजिटल न्यायालय बनने की एक पहल है। इस अवसर पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद और सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के अतिरिक्त अन्य न्यायधीश भी उपस्थित थे। एकीकृत केस मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम को भारत में न्यायिक प्रणाली के सबसे बड़े और उच्चतम सुधारों में से एक माना जा रहा है। सर्वोच्च न्यायालय में इस व्यवस्था के प्रभावी होने के उपरांत देश के समस्त राज्यों के सभी उच्च न्यायालय, जिला न्यायालयों, उप-डिवीजन न्यायालयों को नई प्रणाली के साथ एकीकृत किया जाएगा। जिस के उपरांत देश के सभी जिलो को एकीकृत केस मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम द्वारा जोड़ा जाएगा।

एकीकृत केस मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम की विशेषताएं:

यह मैनेजमेंट सिस्टम मुकदमो संबंधी सभी जानकारी, फाइल आदि के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएगा। साथ ही यह देश के समस्त न्यायालयों के एकीकरण का मार्ग प्रशस्त करेगा। एकीकृत केस मैनेजमेंट इनफार्मेशन सिस्टम में अपनी जानकारी प्रदान करने के उपरांत अपील करता को रिकॉर्ड दर्ज करने की आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि अभिलेखों का परीक्षण अदालतों और उच्च न्यायालय द्वारा इलेक्ट्रॉनिक्स रूप से प्राप्त किया जाएगा। यह डिजिटल फाइलिंग सिस्टम देश की न्यायिक व्यवस्था में पारदर्शिता लाने और पेपर लेस सिस्टम बनाने में भी सहायक होगा। इन सभी विशेषताओं के अतिरिक्त यह मैनेजमेंट सिस्टम वास्तविक समय पर समस्त मुकदमे की प्रगति की जानकारी भी उपलब्ध कराने में सक्षम होगा।

Read More

भारत के वीर: सेंट्रल रिजर्व पुलिस बल

9 अप्रैल 2017 को सेंट्रल रिजर्व पुलिस बल ने वीरता दिवस के उपलक्ष्य पर एक नई वेब पोर्टल और मोबाइल एप्लीकेशन का शुभारंभ किया. “भारत के वीर” नामक वेब पोर्टल और मोबाइल एप्लीकेशन का मुख्य उद्देश्य अपने कर्तव्यों की कतार को पूर्ण करते हुए अपने प्राण त्यागने वाले बहादुर सैनिकों के परिवार को योगदान राशि प्रदान करना है. यह वेबसाइट तकनीकी रूप से राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र द्वारा समर्थित है और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा संचालित है.

वेब पोर्टल की सेवाएं

यह वेब पोर्टल किसी भी नागरिक को अपनी पसंद के बहादुर सैनिक के परिजन को आर्थिक सहायता प्रदान करने की सुविधा देता है. दान की गई राशि उन केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों केंद्रीय पैरा सैन्य बल के सैनिकों के परिजनों के खाते में जमा की जाएगी. यदि जमा की गई राशि 15 लाख रुपए से अधिक की होती है, तो दाताओं को यह राशि किसी अन्य बहादुर सैनिक के खाते में साझा करने की सुविधा प्रदान की जाएगी.

निधि प्रबंधन

“भारत के वीर” कॉर्पस को प्रतिष्ठित व्यक्तियों और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों द्वारा बनाई गई एक समिति द्वारा प्रबंधित किया जाएगा, जो आवश्यकता के आधार पर बहादुर परिवार के लिए समान रूप से निधि का भुगतान करने का निर्णय करेगा।

वीरता दिवस के मुख्य तथ्य

सीआरपीएफ के जवानों के छोटे से दल द्वारा प्रदर्शित अद्वितीय बहादुरी के कृत्य को याद करने के उपलक्ष्य पर प्रतिवर्ष वीरता दिवस का आयोजन किया जाता है. 9 अप्रैल 2017 को गुजरात के कच्छ के रन स्थित एक छोटी सी पोस्ट (सरदार पोस्ट) के चंद सैनिकों ने पाकिस्तानी सेना के एक इंफेंट्री ब्रिगेड के खिलाफ वर्ष 1965 के युद्ध में अद्वितीय साहस का परिचय दिया था. सरदार पोस्ट के वीरता की गाथा सीआरपीएफ के अधिकारियों और पुरुषों को प्रेरणा का एक समृद्ध स्रोत है और 9 अप्रैल को “बहादुर दिवस” के रूप में मनाया जाता है।

Read More

ई-चालान और एम-पैरावाहन एप्लिकेशन: केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने ट्रैफिक नियमों को लागू करने के लिए और व्यापक डिजिटल समाधान प्रदान करने के लिए दो मोबाइल एप्लिकेशन- ई-चालान और एम-पैरावाहन का शुभारंभ किया है। ये अनुप्रयोग विभिन्न सेवाओं और सूचनाओं तक पहुंच प्रदान करेंगे, और नागरिकों को किसी भी ट्रैफ़िक उल्लंघन या सड़क दुर्घटना की रिपोर्ट करने में सक्षम करेंगे।

एम-पैरावाहन:

यह एक नागरिक-केंद्रित एप्लिकेशन है, जो विभिन्न परिवहन-संबंधी सेवाओं तक पहुंच की सुविधा प्रदान करेगा। यह सिस्टम में पारदर्शिता लाने में भी सहायक होगा।

यह नागरिकों के लिए एक सशक्त ऐप है, जो परिवहन से संबंधित विभिन्न सेवाओं, सूचना और उपयोगिताओं तक पहुंच प्रदान करता है।

यह परिवहन राष्ट्रीय रजिस्टर के लिए बैक-एंड कनेक्शन के माध्यम से वर्चुअल ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीकरण प्रमाणपत्र जैसी सुविधाएं भी प्रदान करेगा।

अगर गाड़ी संख्या ऐप में दर्ज की जाती है तो यह गाड़ी और स्वामी के पूर्ण विवरण, उसके ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीकरण प्रमाण पत्र सहित पूर्ण जानकारी प्रदान करेगा।

यह एक वाहन के स्वामित्व और चालक की वास्तविकता की जांच करने में मदद करेगा। यह एक ड्राइवर को काम पर रखने या पुराने वाहन खरीदने के दौरान यात्री सुरक्षा में भी मदद करेगा।

ई-चालान:

ई-चॉलन आवागमन पुलिस और परिवहन प्रवर्तन विंग द्वारा उपयोग के लिए मोबाइल ऐप और बैक-एंड वेब एप्लिकेशन है, जो ट्रैफ़िक उल्लंघन का प्रबंधन करने के लिए एक एकीकृत प्रवर्तन समाधान है।

यह एक समान प्रणाली के माध्यम से सभी हितधारकों को जोड़ने और डेटा अखंडता सुनिश्चित करके पारदर्शिता में सुधार करने में मदद करेगा।

यह रिकॉर्ड के डिजिटलीकरण के जरिये आपरेशनों और कुशल निगरानी को आसान बनाने में भी मदद करेगा और अपराधियों की दृश्यता में वृद्धि करेगा, जिससे बेहतर यातायात प्रबंधन बढ़ जाएगा।

Read More