सहारा वन परियोजना: जॉर्डन

जॉर्डन का 90 प्रतिशत भू-भाग रेगिस्तानी है। 10 सितंबर 2017 को जॉर्डन ने दक्षिणी बंदरगाह शहर अकाबा के पास “सहारा वन परियोजना” शुरू की। यह परियोजना सूरज और समुद्री जल का उपयोग कर रेगिस्तानी भूमि को कृषि में तब्दील कर भोजन का उत्पादन करेगी।
यह परियोजना भू प्रणालियों में क्रांति लाने के साथ प्रौद्योगिकी के अभिनव अनुप्रयोगों को प्रदर्शित करती है जिससे जलवायु और व्यवसाय में लाभ होता है।

सहारा वन परियोजना

सहारा वन परियोजना नॉर्वे और यूरोपीय संघ द्वारा एक वित्तपोषित परियोजना है, जिसका मुख्य उद्देश्य गर्म शुष्क क्षेत्रों में ताजा पानी भोजन और नवीनीकरण ऊर्जा प्रदान करने के साथ-साथ निर्जन रेगिस्तान में वनस्पति क्षेत्रों का विकास करना है।
यह परियोजना समुद्री जल और ठंडे ग्रीनहाउस को सौर ऊर्जा प्रौद्योगिकी के माध्यम से जोड़ कर रेगिस्तान भूमि को कृषि में तब्दील करने का प्रयास करती है। इस परियोजना में ऊर्जा पूर्ति हेतु सौर पैनलों का उपयोग किया जाएगा।
इस परियोजना के प्रथम चरण में 4 फुटबॉल पिचों के क्षेत्र के आकार से सालाना 130 टन कार्बनिक सब्जियों का उत्पादन करना है।

Read More