Current Affairs August 21, 2018

Current-Affairs-August-21-2018

Current Affairs August 21, 2018 को सभी अखबारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडियन एक्सप्रेस और बिजनेस स्टैंडर्ड का अध्ययन कर तैयार किया गया है। यह जानकारी पाठक को UPSC, SSC, Banking, Railway और अन्य सभी प्रतियोगिता परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन में सहायक होगी।

केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा ATM की नकदी हेतु नए मानक ऑपरेटिंग प्रक्रिया जारी

21 अगस्त 2018 को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्वचालित टेलर मशीनों की नकदी भरने के लिए नए मानक ऑपरेटिंग प्रक्रिया को जारी किया. यह प्रक्रिया नगदी वैन, नकदी Vaults, एटीएम धोखाधड़ी और अन्य आंतरिक धोखाधड़ी पर हमलों की बढ़ती घटनाओं के मद्देनजर असुरक्षा की भावना के तहत जारी की गई है. यह प्रक्रिया 8 फरवरी 2019 से लागू की जाएगी.

नई मानक ऑपरेटिंग प्रक्रिया की विशेषताएं:

यह शहरों में 9:00 बजे से पहले और ग्रामीण इलाकों में 6:00 बजे से पहले और केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचित नक्सल प्रभावित जिलों में 4:00 बजे से पहले नगद भरने की समय सीमा निर्धारित करती है. यह दिन के पहले भाग में बैंकों से धन इकट्ठा करने और बख्तरबंद वाहनों में परिवहन करने के लिए इन परिचालनों को संभालने वाली निजी एजेंसियों पर अनिवार्य बनाता है। यह एजेंसियों को आवश्यक संख्या में प्रशिक्षित कर्मचारियों के साथ नगदी परिवहन के लिए निजी सुरक्षा उपलब्ध कराएं के लिए भी निर्देशित करती है इसके अतिरिक्त प्रत्येक नकदी वैन में एक ड्राइवर, दो सशस्त्र सुरक्षा गार्ड, दो एटीएम अधिकारी या संरक्षक होना चाहिए। ट्रांजिट के दौरान वैन के पीछे हिस्से में एक सशस्त्र गार्ड को ड्राइवर के साथ और दूसरे के साथ तीन सीसीटीवी सिस्टम के साथ बैठना चाहिए।


ग्लोबल मोबिलिटी हैकाथन: मूवहैक- 2018

1 अगस्त 2018 को नीति आयोग में दो करोड़ रुपए मूल्य की पुरस्कार राशि के साथ “ग्लोबल मोबिलिटी हैकाथन- मूवहैक 2018” का आगाज किया.

मूवहैक का उद्देश्य गतिशीलता और परिवहन से जुड़ी समस्याओँ का उन्नतिशील, गतिशील और आरोह्य समाधान निकालना है। हैकाथन के लिए द्विस्तरीय दृष्टिकोण अपनाया गया है।
(क) ‘इसे महज कोड करें‘ : इसका उद्देश्य प्रौद्योगिकी/उत्पाद/सॉफ्टवेयर और डेटा विश्लेषण में नवीनता के जरिए समाधान निकालना है,
(ख) ‘इसका महज समाधान निकालें‘ : प्रौद्योगिकी के जरिए गतिशील बुनियादी ढांचे को बदलने के लिए नवीन व्यावसायिक जानकारी अथवा निरंतर समाधान।

हैकाथन के लिए अनुभवी परामर्शदाताओँ और ज्यूरी में श्री नंदन नीलेकणी (इंफोसिस के सह-संस्थापक और चेयरमैन), श्री दीप कालरा (मेक माइ ट्रिप डॉट कॉम के संस्थापक और सीईओ), सुश्री देवयानी घोष (अध्यक्ष, नेस्कौम), डॉ. डेनिस ओन्ग (प्रतिष्ठित वास्तुविद और वेरीजोन में आर्किटेक्चर और सिस्टम इंजीनियरिंग के प्रमुख) श्री मोहन दास पाइ (इंफोसिस में पूर्व सीएफओ और बोर्ड के सदस्य) श्री सी.पी.गुरनामी (टेक महिंद्रा के सीईओ और एम.डी.) और सुश्री निबृति रे (इंटल इंडिया की कंट्री हेड) शामिल हैं।


भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर: पुनः जल शोध केंद्र की स्थापना

21 अगस्त 2018 को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर ने जल संसाधनों को भरने और फिर से जीवंत करने के लिए पुनः जल शोध केंद्र को स्थापित करने का निर्णय लिया है. यह जल शोध केंद्र संस्थान के पूर्व छात्रों अनेश रेड्डी और आदित्य चौबे द्वारा वित्त पोषित होगा और उनके नाम पर इस केंद्र का नाम आदित्य चौबे सेंटर फॉर री-वॉटर रिसर्च के रूप में नामित किया जाएगा.

शोध केंद्र के महत्वपूर्ण तथ्य:

इस जल शोध केंद्र का मुख्य उद्देश्य शहरी भारतीय क्षेत्र में सीवरेज निपटान और पीने योग्य साफ जल की पहुंच की चुनौतियों से निपटना है. यह केंद्र सरकारी निकायों के साथ अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी को विकसित कर (उपयोग लेकर) जल चुनौती को पूरा करने के लिए एक नेटवर्क की स्थापना करेगा. इसके प्रथम चरण के तहत आईआईटी-खड़गपुर एक परिसर संयंत्र स्थापित करेगा जो हॉस्टल से 1.35 मिलियन लीटर सीवेज पानी को दैनिक आधार पर 1.2 मिलियन लीटर पीने योग्य पानी में परिवर्तित करेगा।

इस परियोजना का उद्देश्य संभावित उद्यमियों और सरकारी एजेंसियों को सीवेज उपचार को बड़े पैमाने पर लेने और बैंकों के लिए व्यापार मॉडल के साथ ऐसे व्यवसायों को वित्त पोषित करने में विश्वास हासिल करने के लिए आकर्षित करना है। यह पायलट संयंत्र मार्च 2019 तक तैयार होने की उम्मीद है।


स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा तंबाकू उत्पाद पर नई निर्दिष्ट स्वास्थ्य चेतावनी

21 अगस्त 2018 को केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने सभी तम्बाकू उत्पाद पैक के लिए निर्दिष्ट स्वास्थ्य चेतावनियों के नए सेट अधिसूचित किया है. इस संबंध में सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पादों (पैकेजिंग और लेबलिंग) नियम, 2008 में संशोधन किए हैं। संशोधित नियम 1 सितंबर 2018 से लागू होंगे।

नए नियमों की विशेषताएं इसके तहत, सरकार ने छवियों के दो अलग-अलग सेट जारी किए हैं। पहला सेट 1 सितंबर, 2018 से तंबाकू उत्पादों पर 1 वर्ष की अवधि के लिए उपयोग किया जाएगा, जबकि छवियों का दूसरा सेट 1 सितंबर, 2019 से उपयोग किया जाएगा। नए नियमों में सिगरेट या किसी भी तम्बाकू उत्पाद, आपूर्ति, आयात या वितरण में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से लगे सभी लोगों को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि सभी तम्बाकू उत्पाद पैकेजों में निर्धारित स्वास्थ्य चेतावनियां बिल्कुल निर्धारित हों। उपरोक्त प्रावधान का उल्लंघन सिगरेट और अन्य तम्बाकू उत्पादों (विज्ञापन का निषेध और व्यापार और वाणिज्य, उत्पादन, आपूर्ति और वितरण) अधिनियम, 2003 की धारा 20 में निर्धारित कारावास या जुर्माना के साथ दंडनीय अपराध होगा।

Related Post

Seema Charan

I am a House wife & I love to post Current Affairs Article & Objective Question Answers of GK in Hindi for Students. Hope You Like it. Don't Forget to Share Them.