Current Affairs May 4, 2018

Current-Affairs-May-4-2018

Current Affairs May 4, 2018 को सभी अखबारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडियन एक्सप्रेस और बिजनेस स्टैंडर्ड का अध्ययन कर तैयार किया गया है। यह जानकारी पाठक को UPSC, SSC, Banking, Railway और अन्य सभी प्रतियोगिता परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन में सहायक होगी।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस: 3 मई

3 मई 2018 को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस आयोजित किया गया।

वर्ष 1993 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 3 मई को विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में आयोजित करना प्रस्तावित किया था। यह दिवस Windhoek Declaration की सालगिरह पर प्रतिवर्ष 3 मई को आयोजित किया जाता है।

यह दिवस प्रेस आजादी के मौलिक सिद्धांतों को उजागर करने और पत्रकारों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है।

वर्ष 2018 में आयोजित विश्व प्रेस दिवस का विषय है: Keeping Power in Check: Media, Justice and The Rule of Law.

Source: CNN


पर्यावरण मंत्रालय द्वारा पार्टी पॉपर्स पर प्रतिबंध

केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने मानव स्वास्थ्य और पर्यावरण के हितों हेतु “पार्टी पॉपर्स” के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया। इसी क्रम में सभी राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और प्रदूषण नियंत्रण समितियों को प्रतिबंध को आवश्यक रुप से लागू करने के निर्देश जारी किए गए।

पॉपर्स, आम तौर पर पार्टियों और अन्य उत्सवों में उपयोग किए जाते हैं। जिसमें स्ट्रिंग को खींचने पर विस्फोट होता है, जो चमकदार सामग्री को बिखेरता है।

पार्टी पॉपर्स में मुख्य रूप से रसायनों के रूप में लाल-फॉस्फोरस, पोटेशियम क्लोराइट और पोटेशियम परक्लोराइट का इस्तेमाल किया जाता है।

ये सामग्री मानव स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए हानिकारक हैं। यदि वे खाद्य पदार्थों के साथ मिश्रित हो जाते हैं, तो इससे गंभीर आंखों के आघात या अन्य चेहरे की चोट हो सकती है।

Source: Times Of India


प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

भारत सरकार ने वर्ष 2016 में किसानों की समस्याओं का संज्ञान लेते हुए “प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना” नामक एक महत्वकांक्षी योजना का शुभारंभ किया।

इस योजना का मुख्य उद्देश्य कम पैदावार या पैदावार के नष्ट हो जाने की स्थिति में किसानों को आर्थिक सहयोग उपलब्ध करवाना है।

इस योजना के अंतर्गत किसानों को अपनी भूमि का पंजीकरण करा कर बीमा कंपनियों को निश्चित दर पर प्रीमियम का भुगतान किया जाता है।

इस बीमा योजना में ना सिर्फ खड़ी फसल बल्कि फसल पूर्व बुवाई और फसल कटाई के पश्चात के जोखिमों को भी शामिल किया गया है।

इस योजना के अंतर्गत स्थानीय आपदाओं की क्षति का आकलन का संभावित धन का 25% भुगतान तत्काल ऑनलाइन किया जाना प्रस्तावित है।

वर्तमान परिपेक्ष्य में देश के अधिकांश राज्यों द्वारा प्रीमियम सब्सिडी शेयर (50%) का समय पर भुगतान ना करने के कारण “प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना” का पूर्ण लाभ किसानों को प्रदान नहीं किया जा रहा है।

केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा जारी नवीनतम आंकड़ों के अनुसार 2016-17 में देश के 1.12 करोड़ किसानों को 12959.10 करोड़ रुपए दान किया गया। इस भुगतान के अनुसार प्रत्येक किसानों को 11,571 रुपए भुगतान किया गया।

Source: Daily Pioneer

Like this Article? Subscribe to Our Free GK Questions.

Seema Charan

I am a House wife & I love to post Current Affairs Article & Objective Question Answers of GK in Hindi for Students. Hope You Like it. Don't Forget to Share Them.