Current Affairs March 30, 2018

Current-Affairs-March-30-2018

Current Affairs March 30, 2018 को सभी अखबारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडियन एक्सप्रेस और बिजनेस स्टैंडर्ड का अध्ययन कर तैयार किया गया है। यह जानकारी पाठक को UPSC, SSC, Banking, Railway और अन्य सभी प्रतियोगिता परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन में सहायक होगी।

स्कूल शिक्षा के लिए नई एकीकृत केंद्रीय योजना

आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने स्कूल एजुकेशन और साक्षरता विभाग द्वारा तैयार किए जाने वाले 2018-20 की अवधि के लिए स्कूल शिक्षा एकीकृत केंद्रीय योजना को सहमति प्रदान की। यह एकीकृत केंद्रीय योजना मौजूदा योजना जैसे सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान, और टीचर एजुकेशन को आपस में जोड़ने की परिकल्पना करते हैं।
इस योजना के मुख्य उद्देश्य निम्नांकित है:

1) गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर छात्रों के सीखने की कला को बेहतर करना।
2) स्कूली शिक्षा में सामाजिक और लिंग अंतर को समाप्त करना।
3) शिक्षा के सभी स्तरों पर समानता और समावेश को सुनिश्चित करना।
4) स्कूली शिक्षा प्रावधानों के न्यूनतम मानकों को सुनिश्चित करना।
5) मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा अधिनियम 2009 के अधिकारों के क्रियान्वयन में राज्य समर्थन प्राप्त करना।
6) स्मार्ट क्लासरूम, डिजिटल बोर्ड, और डिजिटल चैनलों के माध्यम से शिक्षा में डिजिटलीकरण प्रौद्योगिकी का उपयोग करना।

Source: Economictimes


राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (संशोधन) विधेयक

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (संशोधन) विधेयक को आवश्यक संशोधनों के उपरांत सहमति प्रदान की। यह संशोधन संसदीय स्थाई समिति की सिफारिशों और जनता से प्राप्त आम प्रतिक्रियाओं के आधार पर लिए गए हैं।

राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (संशोधन) विधेयक, भारत में चिकित्सा शिक्षा के शीर्ष नियामक के रूप में राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग के साथ भारत की चिकित्सा परिषद को बदलने की कोशिश करता है। इसका उद्देश्य प्रक्रिया उन्मुख होने की बजाय चिकित्सा शिक्षा के परिणाम-आधारित नियमन की ओर बढ़ना है। यह नियामक के भीतर स्वायत्त बोर्डों द्वारा कार्य के उचित पृथक्करण को सुनिश्चित करेगा और मेडिकल शिक्षा के मानकों को बनाए रखने के लिए जवाबदेह और पारदर्शी प्रक्रियाएं बनाएगी।

यह आवश्यक संशोधन निम्नांकित है:

1) अंतिम और निकासी MBBS परीक्षा आयोजन: National Exit Tax (NEXT) नामक परीक्षा का आयोजन अंतिम और निकासी परीक्षा के रूप में एमबीबीएस के छात्रों को पास करना आवश्यक होगा। यह परीक्षा राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की जाएगी। यह परीक्षा भारत में अभ्यास करने के लिए विदेशी चिकित्सा योग्यता वाले डॉक्टरों के लिए स्क्रीनिंग टेस्ट के रूप में भी काम करेगी।

2) शुल्क विनियमन: निजी मेडिकल संस्थानों और डीम्ड यूनिवर्सिटी में 40-50% सीटों पर शुल्क विनियमित की जाएगी।

3) एनएमसी में राज्यों / संघ शासित प्रदेशों से नामांकित व्यक्तियों की संख्या: राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) में राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के नामांकित व्यक्तियों को 3 से बढ़ाकर 6 किया जाएगा।

Source: PIB


दक्षिण एशिया उपराज्यीय आर्थिक सहयोग के साथ में तेल एवं रासायनिक प्रदूषण सहयोग समझौता

केंद्र सरकार ने दक्षिण एशियाई सागर क्षेत्र में तेल और रासायनिक प्रदूषण की जांच हेतु दक्षिण एशिया उपराज्यीय आर्थिक सहयोग (SACEP) के साथ समझौता हस्ताक्षर किए। इस समझौते के तहत भारत में समुद्री बचाओ समन्वय केंद्र और राष्ट्रीय आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र की स्थापना की जाएगी।

हमें ध्यान देना चाहिए कि SACEP की स्थापना वर्ष 1982 में श्रीलंका में 8 प्रायद्वीपीय देशों (भारत, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका) द्वारा की गई थी। इसका उद्देश्य दक्षिण एशियाई क्षेत्र में पर्यावरण के संरक्षण, प्रबंधन और वृद्धि को बढ़ावा देना और समर्थन करना था। एशियाई विकास बैंक और एसएएसईसी कार्यक्रम का प्रमुख वित्तदाता है। अब तक, उसने परिवहन, व्यापार सुविधा, ऊर्जा और सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) में $9.17 बिलियन मूल्य के 46 परियोजनाओं का समर्थन किया है।

Source: PIB


InSight: नासा द्वारा मंगल ग्रह पर भेजा जाने वाला स्थिर लैंडर विमान

InSight का पूरा नाम Interior Exploration using Seismic Investigations, Geodesy, and Heat Transport Mission है।

यह अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष मिशन 5 मई 2018 को मंगल ग्रह पर भूकंप मापने के लिए “Seismometer” नामक उपकरण स्थापित करने के लिए प्रक्षेपित किया जाएगा।

यह मिशन विमान एक वैज्ञानिक टाइम मशीन की तरह है, जो 4.5 अरब साल पहले मंगल के गठन के शुरुआती चरणों के बारे में जानकारी प्राप्त करेगा।

इस मिशन के लिए नासा जर्मन एयरोस्पेस सेंटर द्वारा विकसित थर्मल जांच मशीन का उपयोग करेगी, जो ग्रह के अंदर से बहने वाले 5 मीटर भूमिगत ताप और गर्मी के ताप की जांच में सक्षम है।

Source: Hindustan Business

Seema Charan

I am a House wife & I love to post Current Affairs Article & Objective Question Answers of GK in Hindi for Students. Hope You Like it. Don't Forget to Share Them.