Current Affairs March 14, 2018

Current-Affairs-March-14-2018

Current Affairs March 14, 2018 को सभी अखबारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडियन एक्सप्रेस और बिजनेस स्टैंडर्ड का अध्ययन कर तैयार किया गया है। यह जानकारी पाठक को UPSC, SSC, Banking, Railway और अन्य सभी प्रतियोगिता परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन में सहायक होगी।

भारत का सबसे बड़ा पवन टरबाइन जनरेटर

13 मार्च 2018 को, सुजलॉन एनर्जी ने S-128 की स्थापना और चालू होने की घोषणा की, जो भारत में सबसे बड़ा पवन टरबाइन जेनरेटर है।

यह पवन टरबाइन जनरेटर तमिलनाडु के सांगानेरी में प्रोटोटाइप के रूप में प्रारंभ किया गया है, जिसमें आवश्यक परीक्षणों के उपरांत वर्ष 2018 के अंत तक प्रारंभ किया जाएगा।

S-128 पवन टरबाइन जेनरेटर 2.6 – 2.8 मेगावाट की श्रेणियों में उपलब्ध है। यह 140 मीटर तक हाबस ऊंचाई प्रदान करता है।

हमें ध्यान देना चाहिए कि सुजलॉन एनर्जी द्वारा स्थापित एस 128 पवन टरबाइन जनरेटर का आकार 63 मीटर और रोटर व्यास 128 मीटर है।


Source: Business-Standard


न्यूटन-भाभा फंड विजेता

भारत-यूनाइटेड किंगडम की संयुक्त टीम ने गंगा नदी बेसिन में भूजल आर्सेनिक अनुसंधान परियोजना के लिए न्यूटन-भाभा फंड जीत लिया है। इस प्रतियोगिता को प्राकृतिक पर्यावरण अनुसंधान परिषद और विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग यूके के सहयोग से आयोजित किया गया। इस प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य व्यापक रूप से आर्सेनिक प्रभावित गंगा नदी बेसिन में पानी की चुनौतियों का आकलन करना और अग्रिम 20-25 वर्षों के लिए भू जल प्रबंधन व्यवस्था पर इसके प्रभाव और जल उपचार तकनीक संबंधी सुझाव देने थे।

यह मुख्यता तीन साइटों बिजनौर और वाराणसी, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल के नाडिया में आयोजित किया गया।

न्यूटन-भाभा फंड मुख्यता ब्रिटिश काउंसिल द्वारा प्रदान किया जाता है, जिसका उद्देश्य आर्थिक विकास और सामाजिक कल्याण में भारतीय चुनौतियों का सामना करने के लिए आवश्यक संयुक्त समाधान खोजने हेतु ब्रिटिश और भारतीय वैज्ञानिक अनुसंधान को बढ़ावा देना है।


Source: Business-Standard


Kochon/कोचोन पुरस्कार: 2017

Kochon/कोचोन पुरस्कार व्यक्ति या संगठन को तपेदिक/क्षय रोग का मुकाबला करने के लिए महत्वपूर्ण योगदान हेतु प्रदान किया जाता है। यह पुरस्कार वर्ष 2006 से दक्षिण कोरिया में पंजीकृत एक गैर-लाभकारी फाउंडेशन “कोचोन फाउंडेशन” द्वारा प्रदान किया जाता है, जिसमें 65,000 अमेरिकी डॉलर का नगद पुरस्कार प्रदान किया जाता है।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद को तपेदिक/क्षय रोग अनुसंधान और विकास में उत्कृष्टता स्थापित करने के लिए वर्ष 2017 के Kochon/कोचोन पुरस्कार हेतु चयनित किया गया। यह पुरस्कार भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद को तपेदिक रोग की रोकथाम के लिए आवश्यक “टीबी रिसर्च कंसोर्टियम की स्थापना” के लिए प्रदान किया गया है। यह कंसोर्टियम सार्वजनिक और निजी संस्थानों के साथ कार्य कर प्रभावी टीकों के विकास के लिए देश के शोध प्रयासों का मार्गदर्शन करता है।

हमें ध्यान देना चाहिए कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद को वर्ष 1911 में ‘भारतीय अनुसंधान निधि संघ‘ के रूप में स्थापित किया गया था। यह संघ विश्व के सबसे पुराने और सबसे बड़े चिकित्सा अनुसंधान नेता के रूप में मान्यता रखता है।


Source: The Hindu


सी -17 ग्लोबमास्टर: टुटींग एयरफ़ील्ड, अरुणाचल प्रदेश

भारतीय वायु सेना ने पहली बार अरुणाचल प्रदेश में रणनीतिक टुट्यूटिंग एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड (चीनी सीमा के करीब) में अपने सबसे बड़े परिवहन यूएस-निर्मित विमान, सी -17 ग्लोबमास्टर को लैंड कराया। इस उड़ान के दौरान सी -17 ग्लोबमास्टर ने 18 टन वजन को भारित किया।

इस विमान की लैंडिंग भारतीय वायुसेना के रणनीतिक समग्र संचालन को प्रदर्शित करता है क्योंकि टुटींग एयरफ़ील्ड (Tuting airfield) बेहद संकीर्ण घाटी में उच्च पहाड़ियों से घिरा क्षेत्र है। इस सफल संचालन से पूर्व भारतीय वायुसेना ने अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम सियांग जिले में मेचुका एयरफ़ील्ड पर सी -17 ग्लोबमास्टर को लैंड कराया था।

सी -17, यूएस-निर्मित परिवहन विमान है, जो आमतौर पर सामरिक एयरलाइन मिशनों, चिकित्सा निकास और एयरड्रॉप कर्तव्यों के साथ पूरे विश्व में सैनिकों और कार्गो को परिवहन करने के लिए उपयोग किया जाता था। यह 174 फीट लंबा है और इसमें लगभग 170 फुट (52 मीटर) की पंख हैं। इसका कार्गो क्षेत्र 88 वर्ग फीट क्षेत्रफल का है। यह 77.50 टन पेलोड ले सकता है और इसकी अधिकतम टेकऑफ़ वजन क्षमता 265 टन है।

हमें ध्यान देना चाहिए कि वर्ष 2013 में भारतीय वायुसेना में आधिकारिक तौर पर सी -17 ग्लोबमास्टर को शामिल किया गया था।


Source: Indian Express


नेपाल की प्रथम महिला राष्ट्रपति: बिद्या देवी भंडारी

13 मार्च 2018 को नेपाल की प्रथम महिला राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी (Bidya Devi Bhandari) को कार्यालय में दूसरे कार्यकाल के लिए चुना गया। नेपाल के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान नेपाली कांग्रेस की कुमारी लक्ष्मी राय को बिद्या देवी भंडारी द्वारा दो तिहाई बहुमत से हराया गया।

नेपाल के नए रिपब्लिकन संघीय संविधान के तहत, नेपाल के राष्ट्रपति राज्य के औपचारिक प्रमुख हैं। राष्ट्रपति चुनाव में संसद और प्रांतीय असेंबलियों के सदस्य शामिल थे। पुन: चुनाव के लिए सुश्री भंडारी के नामांकन सीपीएन-यूएमएल और सीपीएन (माओवादी केंद्र), संघिया समाजवादी फोरम- नेपाल और अन्य पार्टियों के सत्तारूढ़ वाम गठबंधन द्वारा समर्थित था।

बिद्या देवी भंडारी का जन्म 1961 में नेपाल के भोजपुर में हुआ था। वह 2015 में नेपाल की पहली महिला राष्ट्रपति निर्वाचित हुई। इस नियुक्ति से पूर्व, वह नेपाल के कम्युनिस्ट पार्टी (यूनिफाइड मार्क्सवादी लेनिनिस्ट) की उपनेता थी।


Source: The Hindu

Seema Charan

I am a House wife & I love to post Current Affairs Article & Objective Question Answers of GK in Hindi for Students. Hope You Like it. Don't Forget to Share Them.