Current Affairs January 9, 2018

Current-Affairs-January-9-2018

Current Affairs January 9, 2018 को सभी अखबारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडियन एक्सप्रेस और बिजनेस स्टैंडर्ड का अध्ययन कर तैयार किया गया है। यह जानकारी पाठक को UPSC, SSC, Banking, Railway और अन्य सभी प्रतियोगिता परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन में सहायक होगी।

विज्ञान

1. भारत का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर “प्रत्यूष”

8 जनवरी 2018 को केंद्र सरकार ने भारत के सबसे तेज सुपर कंप्यूटर श्रंखला “प्रत्यूष/Pratyush” का अनावरण किया। यह सुपर कंप्यूटर विश्व का चौथा सबसे तेज सुपर कंप्यूटर है, जोकि 6.8 पेटाफॉप की गति से गणना करने में सक्षम है।

एक पेटाफॉप एक लाख अरब floating point प्रति सेकंड की गणना करने में सक्षम है और यह एक कंप्यूटिंग प्रणाली की क्षमता का प्रतिबिंब है। यह सुपर कंप्यूटर भारत को टॉप 500 सुपर कंप्यूटर सूची में 300वें स्थान से 30वें स्थान पर स्थानांतरित करेगा।

यह सुपर कंप्यूटर मौसम और जलवायु अनुसंधान के लिए समर्पित है।

यह सुपर कंप्यूटर दो सरकारी संस्थानों आईआईटीएम, पुणे (4.0 पेटाफॉप) और नेशनल सेंटर फॉर मीडियम रेंज वेदर फोरकास्ट, नॉएडा (2.8 पेटाफॉप) में स्थापित किया जाएगा।

वित्तीय वर्ष 2016-17 में केंद्र सरकार ने देश में मौसम अनुसंधान और भविष्यवाणी हेतु 10 पेटाफॉप की गति वाले सुपर कंप्यूटर को विकसित करने के लिए 400 करोड़ों रुपए का बजट आवंटन किया था। यह सुपर कंप्यूटर भारत के रिजोल्यूशन को 3 किलोमीटर और अंतरराष्ट्रीय रीजन को 12 किलोमीटर तक मैम कर आवश्यक मौसम पूर्वानुमान लगाने में सक्षम है।

वर्ष 2016 में चीन का सनवे तिहु लाइट/Sunway TaihuLight सुपर कंप्यूटर लगातार छठे समय के लिए दुनिया के सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर प्रणाली के रूप में उभरा था। जिसे राष्ट्रीय समानंतर कंप्यूटर इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी अनुसंधान केंद्र, चीन द्वारा विकसित किया गया है। हमें ध्यान देना चाहिए कि सुपर कंप्यूटर सनवे तिहु लाइट को जुलाई 2016 में विश्व के शीर्ष 500 सुपर कंप्यूटरों में प्रथम स्थान दिया गया था।

2. भारतीय रेल की नई ऑनलाइन विक्रेता पंजीकरण प्रणाली

केंद्र सरकार के सिस्टम और प्रक्रिया को डिजिटलीकरण और पारदर्शी बनाने के लिए भारतीय रेलवे के अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन (RDSO) ने एक नई “ऑनलाइन विक्रेता पंजीकरण प्रणाली” सेवा का शुभारंभ किया। यह प्रणाली पूर्ववर्ती पंजीकरण प्रणाली में आवश्यक सुधार और परिवर्तन के उपरांत तैयार की गई है। यह प्रणाली सूचना के लिए सार्वजनिक पहुंच निर्धारित समय सीमा और प्रतिक्रियाओं के सरलीकरण से संबंधित जानकारी की उपलब्धता को सुनिश्चित करेगी।

प्रणाली से संबंधित मुख्य तथ्य:

इस प्रणाली में पंजीकरण के उपरांत विक्रेता को गतिविधि की जानकारी हेतु RDSO वेबसाइट पर उपलब्ध कराई जाएगी।

यह प्रणाली विक्रेता को समयबद्ध तरीके से समुचित जानकारी उपलब्ध कराने और समय निकलने के उपरांत अलर्ट जारी कर संबंधित कार्मिक को तुरंत कार्यवाही करने हेतु प्रस्तुत करेगी।

इस प्रणाली में विक्रेता की सुविधा हेतु दस्तावेजों की जांच और भौतिक सत्यापन की प्रक्रिया को समानांतर बनाया गया है। यह भर्ती प्रक्रिया में सुधार और समय सीमा को कम करके बनाया गया है।

यह प्रणाली विक्रेता को रजिस्ट्रेशन फीस जमा कराने, संबंधित दस्तावेज जमा कराने और तकनीकी जानकारी का आदान-प्रदान करने जैसी सुविधा भी प्रदान करती है। प्रत्येक चरण में विक्रेता को अपने मामले की स्थिति के विवरण के साथ सतर्क / स्वीकृति प्राप्त प्रणाली मिलेगी।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण

3. राजस्थान सरकार की तंबाकू बिक्री पर रोक हेतु “विक्रेता लाइसेंस” व्यवस्था

राजस्थान सरकार ने राज्य में तंबाकू की खपत को रोकने के लिए अग्रणी कदम उठाते हुए सिगरेट और तंबाकू उत्पादों की बिक्री के लिए “विक्रेता लाइसेंस” व्यवस्था प्रारंभ की। इस व्यवस्था के तहत Local Self-Government विभाग तंबाकू उत्पादों के विक्रेताओं से संबंधित लाइसेंसिंग और निषिद्ध तंबाकू बिक्री आउटलेट के नियम निर्धारित करेगी।

राज्य सरकार द्वारा जारी अधिसूचना के तहत लाइसेंस प्राप्त विक्रेता को दुकान पर गैर तंबाकू उत्पादों (टॉफ़ी, कैंडी, बिस्कुट, वेफर्स और शीतल पेय) को बेचने की अनुमति नहीं होगी।

राज्य सरकार, शहरी स्थानीय निकायों की सीमा के भीतर तंबाकू उत्पादों की बिक्री को कम करने के लिए सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम 2003 के तहत सख्त कार्यवाही करने का अधिकार रखती है।

राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-4 के तहत राजस्थान में तंबाकू की खपत पिछले 10 वर्षों के अनुपात में 13.5 फ़ीसदी तक कम हुई है।

4. केंद्रीय गृह मंत्रालय की “ऑनलाइन धोखाधड़ी” निवारण पोर्टल सेवा

केंद्रीय गृह मंत्रालय एक नए वेब पोर्टल के माध्यम से देश के ऑनलाइन धोखाधड़ी मामलों के शिकार लोगों को वास्तविक समय पर शिकायतें दर्ज करने की सुविधा प्रदान करेगी। इसके अतिरिक्त केंद्र सरकार बैंकों को फर्जी लेनदेन के मामलों के समाधान के लिए आवश्यक अधिकार प्रदान करने की योजना बना रही है।

भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम के अनुसार भारत में साइबर अपराध की घटनाओं में प्रति वर्ष 21% वृद्धि हुई हैं, जिनमें सर्वाधिक 2639 मामले उत्तर प्रदेश में सामने आए।

यह वेब पोर्टल इंटरनेट पर बाल अश्लीलता और यौन हिंसा वीडियो के संचलन की जांच करने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त एक समिति के निर्देशों पर तैयार किया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्य सरकारों को साइबर फोरेंसिक प्रयोगशाला स्थापित करने और नवीनतम उपकरणों और सॉफ्टवेयर के प्रशिक्षण के लिए आवश्यक फाइलों को क्लाउड के माध्यम से संग्रहित करने और उपयोग करने के लिए निर्देश जारी किए थे।

दिवस

5. प्रवासी भारतीय दिवस- 2018

प्रवासी भारतीय दिवस प्रतिवर्ष 9 जनवरी को भारत के विकास में प्रवासी भारतीयों के योगदान को चिन्हित करने के लिए आयोजित किया जाता है।

यह दिवस सर्वप्रथम वर्ष 2003 में आयोजित किया गया था। केंद्र सरकार द्वारा 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस आयोजित करने का मुख्य कारण वर्ष 1915 में महात्मा गांधी द्वारा 9 जनवरी को दक्षिण अफ्रीका से भारत आगमन था।

वर्ष 2018 में आयोजित 16वें प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन सर्वप्रथम भारत से बाहर सिंगापुर में किया गया। इस अवसर पर प्रथम “प्रवासी सांसद सम्मेलन” का आयोजन किया गया।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस

6. बाड़मेर रिफाइनरी परियोजना

16 जनवरी 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बाड़मेर रिफाइनरी परियोजना का शिलान्यास करेंगे। यह रिफाइनरी BS VI उत्पादों के उत्पादन में सक्षम है।

परियोजना विवरण:
परियोजना लागत – 43129 करोड़ रु
लक्ष्य मैकेनिकल समापन – 4 वर्ष
रिफाइनिंग क्षमता – 9 एमएमटीपीए
एचपीसीएल का इक्विटी शेयर – 74%
राजस्थान सरकार का इक्विटी शेयर – 26%
स्थान – पंचपदरा, बाड़मेर, राजस्थान
प्रोत्साहन – 15 वर्षों के लिए प्रतिवर्ष 123 करोड़ रु का ब्याज मुक्त ऋण

Like this Article? Subscribe to Our Free GK Questions.

Seema Charan

Seema Charan

I am a House wife & I love to post Current Affairs Article & Objective Question Answers of GK in Hindi for Students. Hope You Like it. Don't Forget to Share Them.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *