India’s New Gold Scheme -2015 : Important Facts

Indian Government launch three major gold scheme for reducing Physical Gold Demand.

Gold Scheme -2015:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन स्वर्ण संबंधित योजनाए क्रमश गोल्ड मुद्रीकरण योजना (Gold Monetisation Scheme), सावरेन गोल्ड बॉन्ड योजना (Sovereign Gold Bond Scheme) और भारतीय सोने के सिक्के योजना(Indian Gold Coins Scheme) का शुभारंभ किया. इन महत्वाकांक्षी योजनाओं का उद्देश्य सोने की भौतिक मांग कम करना और घरों और संस्थानों के पास पडी कीमती धातु के 20,000 टन को बाहर निकालना है.

गोल्ड मुद्रीकरण योजना (Gold Monetisation Scheme) 2015:

  1. गोल्ड मुद्रीकरण योजना 2015 भारतीयों के लिए अपने कीमती धातु जमा कर, उस पर एक ब्याज कमाने के लिए विकल्प की पेशकश करेगा और यह मौजूदा गोल्ड डिपॉजिट स्कीम (Gold Deposit Scheme) 1999 की जगह भी लेगी.
  2. योजना टैगलाइन: कमाएँ, जब आप सुरक्षित हैं.
  3. कार्यान्वयन: (क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को छोड़कर) सभी वाणिज्यिक बैंक, भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देशों के अनुसार जीएमएस 2015 को लागू करेगे.
  4. जमा सीमा: कच्चे सोने के रुप मे सिक्के व आभूषण लिये जाएगे, जोकी कम से कम एक समय में 30 ग्राम होना चाहिये. जमा करने के लिए कोई अधिकतम सीमा नहीं है.
  5. कार्यकाल: बैंक लघु अवधि 1-3 साल (Short Term of Bank Deposit), मध्यम (5-7 वर्ष) और दीर्घ (12-15 वर्ष) की अल्पावधि के तहत जमा सोने को स्वीकार करेंगे.
  6. मुल और जमा पर ब्याज: बैंकों ब्याज दरें तय करने के लिए स्वतंत्र हैं और यह सोने में नामित किया जाएगा.

सावरेन गोल्ड बॉन्ड योजना (Sovereign Gold Bond Scheme) 2015:

  1. भौतिक सोने की मांग को कम करने के लिए डीमैट गोल्ड बांड में निवेश को प्रोत्साहन देना है.
  2. इस गोल्ड बांड पर ब्याज देय होगा.
  3. योजना टैगलाइन: बुद्धिमानी से निवेश करते हैं। सुरक्षित रूप से कमाते हैं.
  4. न्यूनतम निवेश: भौतिक सोने की 2 ग्राम; अधिकतम निवेश: 500 ग्राम .
  5. बांड जारी: भारतीय रिजर्व बैंक केन्द्र सरकार की ओर से एक ग्राम और उसके गुणकों के मूल्यवर्ग में गोल्ड बांड जारी करेगा.
  6. गोल्ड बांड की अवधि: 8 साल के अधिकतम कार्यकाल होगा, लेकिन 5 साल बाद भी बाहर निकलाने का विकल्प होगा तथा ब्याज भुगतान के लिये तारीखों का प्रयोग किया जा सकता है.
  7. व्यापार योग्य और विनिमेय: ये बांड डीमैट और कागज के रूप में उपलब्ध होगेे, और यह शेयर बाजार में व्यापार योग्य हो सकता है साथही इसे ऋण के लिए जमानत के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है.

भारतीय सोने के सिक्के योजना (Indian Gold Coins Scheme) 2015:

  1. यह आधिकारिक तौर पर केंद्र सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले भारत के पहले भारतीय सोने का सिक्का होगे.
  2. सोने के सिक्कों पर एक तरफ राष्ट्रीय प्रतीक अशोक चक्र और दूसरी तरफ महात्मा गांधी के उत्कीर्ण छवि होगी.
  3. मूल्यवर्ग: सिक्के 5 ग्राम, 10 ग्राम और 20 ग्राम बुलियन के मूल्यवर्ग में उपलब्ध होगे.

 

Like this Article? Subscribe to Our Free GK Questions.

I am a House wife & I love to post Current Affairs Article & Objective Question Answers of GK in Hindi for Students. Hope You Like it. Don't Forget to Share Them.

One thought on “India’s New Gold Scheme -2015 : Important Facts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *